संदेश

एंटरटेनमेंट लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

एक अदबी एक्टर इरफान की याद - Hindustan Posts

चित्र
इरफान को दो साल बीत चुके हैं। इरफान का जाना केवल एक एक्टर की क्षति नही है बल्कि अदब, तहज़ीब, इल्म और एक खास तरह की फकीरी ये सब इरफान के साथ-साथ दफन हो गई। इरफान से ज्यादा प्रतिभाशाली एक्टर बॉलिवुड ने दिए लेकिन अदब के मामले में बॉलिवुड, हॉलिवुड, टाॅलीवुड, धनियावुड, मिर्चीवुड...इति इति) भी पानी मांगते हैं। इरफान गजब का नही अदब का एक्टर है। गजब का एक्टर होने के लिए डायरेक्टर्स का कन्ट्रोल रूल लागू होता है, लेकिन इरफान का इल्म इसकी इजाजत नही देता है। इरफान ने हॉलीवुड में अपने एक्सपीरियंस को लेकर एक किस्सा शेयर किया था। इस किस्से में वह बताते हैं कि एक हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग के दौरान डायरेक्टर ने उनसे डिमांड की थी, कि उन्हें इस सीन में अपना कुर्ता उतार कर बेड पर जाना होगा। ऐसे में इरफान खान ने अपने कपड़े उतारने से मना कर दिया। आपकी अदालत शो में एक्टर इरफान खान ने बताया था- ‘एक डायरेक्टर थे हॉलीवुड में, उन्होंने कहा आपका ये इंटीमेट सीन है और आप ये कुर्ता उतार दो। मैं बोला अरे मैं कुर्ता तो नहीं उतारूंगा। वो डायरेक्टर बोले- अरे तुम बेड पर हो, सो रहे हो, तुम कपड़े उतारके नहीं सोओगे? मैंने कहा

Death anniversary: परदे के पीछे मीना कुमारी..

चित्र
प्रसिद्ध फिल्म डायरेक्टर कमाल अमरोही के नाते मीना कुमारी का नाम अमरोहा की आलमी शख्सियतों के साथ भी जुड़ गया है। आज मीना कुमारी की पुण्यतिथि है। मीना कुमारी फिल्म इंडस्ट्री में आजाद ख्याल का चेहरा बनकर रहीं, स्वयं अपने शौहर की बंदिशों में भी नहीं बंध सकीं। मीना कुमारी के अन्तिम दिनों का जिक्र करती हुई,कमाल अमरोही साहब की बेटी रुखसार अमरोही, पाकिस्तानी अखबार डॉन को दिए एक इंटरव्यू में कहतीं हैं,मीना कुमारी अपने अंतिम दिनों में, केवल कमाल अमरोही को अपने अपार्टमेंट में बुलाती थीं। वो अभी भी बाबा(कमाल) की बहुत परवाह करती थीं। रुखसार कहती हैं, ''मैं भी उनके साथ उस जब अपार्टमेंट में जाती थी, तो छोटी अम्मी (मीना) दर्द की गर्त में डूब जाती थी।"  एक बार एक पार्टी में मेरे बाबा को पान की पेशकश की गई थी। इसे खाते ही उन्हें लगा कि उनका सिर घूमने लगा है, जैसे-तैसे बाबा बेहोशी की हालत में घर पहुंचे। हम सभी बहुत चिंतित थे और छोटी अम्मी को फोन किया तो तुरंत हमारे अपार्टमेंट में आ गईं। वह सीढ़ियाँ नहीं चढ़ सकती थी इसलिए हम उनसे मिलने नीचे गए। वह वास्तव में चिंतित थीं। उन्होंने हमसे कहा कि,